नेशनल हैल्थ बिल 2017 : परिस्थिति—1 : कल्पना कीजिए और जवाब दीजिए


एक सरकारी मुलाजिम आपके घर में बिना वारंट घुसता है,

कहता है कि उसे संदेह है कि आपकी बेटी महामारी से संक्रमित है,

और वो अधिकारी पुलिस की सहायता से जबरदस्ती आपकी बेटी को अपने साथ घसीट कर ले जाता है और बोलता है कि उसे कोरन्टाईन कर दिया है। 

बाद में अगले दिन उसे जबरदस्ती कोई दवा दी जाए और उससे जब उसकी मृत्यु हो जाए और आपसे कहा जाए कि मृत्यु का कारण संदेहास्पद महामारी है। 

तो आपको कैसा लगेगा ? आप क्या करेंगे ?

हंसिए मत ये कहानी नहीं है 

सरकार एक विधेयक के जरिए जल्द ही इसे आपके जीवन का अंग बनाने वाली है।  

विधेयक का नाम है ' नेशनल हैल्थ बिल—2017' । 

मानसून सत्र में बिल संसद में आने वाला है । 

जागिए नहीं तो आप भक्ति व सस्पेंस में ही मारे जाओगे ।


नेशनल हैल्थ बिल 2017 को पढ़ने के लिए कृपया नीचे दिए गए लिंक को क्लिक करें———


National Health Bill 2017 Link

Popular posts
राज्य स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में खिलाड़ियों ने ताइक्वांडो मे राज्य स्तर पर जीते 16 पदक
चित्र
कोटा सेंट्रल जेल में जरूरतमंद बंदियों को बांटे गर्म कपड़े
चित्र
समग्र सेवा संघ की गोष्ठी में जे.पी. व लोहिया को दी शब्दांजलि, समाजवाद व लोकतंत्र की प्रासंगिकता पर हुआ मंथन
चित्र
महामारी का आना , हकीकत है या फसाना ? वैश्विक षड़यंत्र के विचारणीय संकेत
चित्र
पत्रकार दम्पति के साथ टोलकर्मियों द्वारा मारपीट मामले में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान, पुलिस करेगी चालान पेश
चित्र