डोटासरा पर आरोप,भाजपा का घिनौना षड़यंत्र : जगदीश प्रसाद तिवाडी

बैस्ट रिपोर्टर न्यूज,जयपुर । प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व संसदीय सचिव जगदीश प्रसाद तिवाडी ने बयान जारी कर भाजपा द्वारा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा पर पद के दुरूपयोग के आरोप को एक घिनौना षडयंत्र बताया है और कहा है कि भाजपा की यह कार्यप्रणाली है कि किसी भी भाजपा विरोधी नेतृत्व पर बिना किसी प्रमाण के झूठे आरोप लगा कर भ्रम फलायें। तिवाड़ी ने कहा कि विगत दिनों जिस प्रकार से भाजपा ने डोटासरा पर अपने रिश्तेदारों को लाभ देने का आरोप लगाया है वह हास्यास्पद है। आरोप लगाने से पहले तथ्यों की जानकारी ले लेनी चाहिए। 

तिवाड़ी ने बताया कि यू.पी.एस.सी. में आई.ए.एस. टॉपर प्रदीप सिंह मलिक को साक्षात्कार में 158 नम्बर मिले जबकि ओम बिरला जी की बेटी को 200 अंक मिले । तब सवाल नहीं उठा पाए लोग आज प्रभा व गौरव पूनियाँ की योग्यता पर सवाल कर रहे है।

तिवाड़ी ने वस्तुस्थिति बताते हुये कहा कि एक सुशिक्षित परिवार जिनके पिता श्री (प्रधानाचार्य) माता कमला पूनियाँ (शिक्षक) पुत्री डॉ. प्रतिभा पूनियाँ 2016 में आरएएस में चयनित की गई और प्रतिभा पूनियाँ के पति अविनाश डोटासरा आर.ए.एस. का भी 2016 की भर्ती में चयन हुआ ,तब भाजपा सरकार थी तथा शादी भी आरएएस में चयन के बाद हुई थी।

तिवाड़ी के अनुसार दूसरी पुुत्री डॉ प्रभा 2018 में चयनित हुई है,उनके पति डॉ. अनिल लाम्बा जी शिशु रोग विशेषज्ञ है जबकि पुत्र गौरव पूनियाँ 2018 में एस.आई में चयनित हो चुके थे। साथ ही 2018 आर.ए.एस. भर्ती में भी चयन हुआ है, ने 2012 से 2015 दिल्ली विश्वविद्यालय से भूगोल (आनर्स) में स्नातक में टॉप किया है। 2017 में दिल्ली पुलिस में एस आई बना साथ ही 2018 में AFCAT भी क्लीयर किया।

तिवाड़ी ने कहा कि क्या ऐसे बच्चों को किसी की सिफारिश की जरूरत हो सकती है। यह आम नागरिक अच्छी तरह समझ सकता है, साथ ही कहा कि यदि डोटासरा जी की इतनी ही चलती तो स्वयं के पुत्र व पुत्रवधू जो पोस्ट ग्रेजुएट है उन्हें आर.ए.एस. नहीं बना लेते।  जगदीश प्रसाद तिवाड़ी ने भाजपा द्वारा की जा रही ऐसी चरित्रहनन की कार्यवाही की कड़े शब्दों में निन्दा की है।

Popular posts
राज्य स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में खिलाड़ियों ने ताइक्वांडो मे राज्य स्तर पर जीते 16 पदक
चित्र
समग्र सेवा संघ की गोष्ठी में जे.पी. व लोहिया को दी शब्दांजलि, समाजवाद व लोकतंत्र की प्रासंगिकता पर हुआ मंथन
चित्र
महामारी का आना , हकीकत है या फसाना ? वैश्विक षड़यंत्र के विचारणीय संकेत
चित्र
कोटा सेंट्रल जेल में जरूरतमंद बंदियों को बांटे गर्म कपड़े
चित्र
पत्रकार दम्पति के साथ टोलकर्मियों द्वारा मारपीट मामले में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान, पुलिस करेगी चालान पेश
चित्र