'एम—4' की श्रुति बोहरा ने नीट—2021 में लहराया सफलता का परचम

बैस्ट रिपोर्टर न्यूज,जयपुर। आशा पटेल । स्नातक मेडिकल परीक्षा (नीट) 2021 के परिणाम जारी होने के साथ ही राजधानी के प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थान 'एम-4' ने अपनी श्रेष्ठता साबित कर दी है। संस्थान की यह सफलता इस मायने से और भी उल्लेखनीय हो जाती है कि इसकी शुरुआत हुए अभी पूरा एक वर्ष भी नहीं बीत है। अपने पहले ही सत्र में संस्थान के 52 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी जिनमें से 28 स्टूडेंट्स चयनित हुए हैं। संस्थान की छात्रा श्रुति बोहरा ने 720 में से 688 अंकों के साथ ऑल इण्डिया रैंकिंग - 532 हासिल करके संस्था एवं अपने माता-पिता का नाम रोशन किया। 

एम-4 से नीट-2021 में सफल रहे विद्यार्थियों ने कहा कि - “इसका सारा श्रेय संस्थान के निदेशक आर पी शर्मा और श्रेष्ठ फैकल्टीज की मेहनत, लगन और समर्पण को जाता है वहीं निदेशक आर पी शर्मा ने बताया कि संस्थान के छात्रों ने पहले ही साल में बेहतरीन परिणाम दिए हैं । शर्मा ने कहा कि आने वाले वर्षों में भी सामाजिक सरोकारों के साथ बेहतरीन परिणाम दिए जाएंगे। शर्मा ने बताया कि संस्थान में प्रवेश प्रक्रिया जारी है। निर्धन और विशेष प्रतिभावान बच्चों को विशेष रियायत देने का फ़ैसला लिया गया है। शर्मा ने बताया कि इसी वर्ष अप्रैल में शुरुआत के बाद अपने पहले ही सत्र में संस्थान के 52 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी जिनमें से 28 स्टूडेंट्स चयनित हुए हैं। इस मौके पर पर संस्थान में जश्न का माहौल रहा और विद्यार्थियों के लिए सम्मान समारोह व बधाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान पर संस्थान ऐम-4 के शिक्षक और डायरेक्टर श्यामजी गोस्वामी, हिमान्शु अग्रवाल एवं आर. पी. शर्मा ने सभी चयनितों को बधाई देते हुए उनका मुंह मीठा करवाकर उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। संस्थान के निदेशक आर. पी. शर्मा ने बताया कि संस्थान ने पहली साल में गोपालपुरा और सुभाष नगर में अपनी दो शाखाएं खोली है और जल्द ही संस्था की अन्य शाखाएं खोली जाएंगी ताकि विद्यार्थियों को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि बच्चों के समय समय पर टेस्ट लेकर उनका शिक्षण कौशल निखारा जाता है।

Popular posts
राज्य स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में खिलाड़ियों ने ताइक्वांडो मे राज्य स्तर पर जीते 16 पदक
चित्र
कोटा सेंट्रल जेल में जरूरतमंद बंदियों को बांटे गर्म कपड़े
चित्र
समग्र सेवा संघ की गोष्ठी में जे.पी. व लोहिया को दी शब्दांजलि, समाजवाद व लोकतंत्र की प्रासंगिकता पर हुआ मंथन
चित्र
महामारी का आना , हकीकत है या फसाना ? वैश्विक षड़यंत्र के विचारणीय संकेत
चित्र
पत्रकार दम्पति के साथ टोलकर्मियों द्वारा मारपीट मामले में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान, पुलिस करेगी चालान पेश
चित्र