यूईएम जयपुर में कौशल विकास केंद्र स्थापित

बैस्ट रिपोर्टर न्यूज,जयपुर (आशा पटेल)। यूनिवर्सिटी ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट, जयपुर ने अपने परिसर में एक कौशल विकास केंद्र स्थापित किया है। बैंगलोर स्थित, बहु-आयामी अनुसंधान उन्मुख तकनीकी कंपनी एंटुपल टेक्नोलॉजीज ने राजस्थान के पूरे क्षेत्र के इंजीनियरों की सुविधा के लिए कौशल विकास केंद्र स्थापित करने के लिए यूईएम जयपुर के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। 12 अगस्त, 2021 को इस हस्ताक्षरित एमओयू का आदान-प्रदान किया गया और इस कौशल विकास केंद्र की विभिन्न सुविधाओं की जानकारी इंजीनियरिंग शाखाओं के सभी शिक्षकों और छात्रों को दी गई। 

प्रो. (डॉ.) बिस्वजय चटर्जी, कुलपति, यूईएम जयपुर ने बताया कि यूईएम जयपुर हमेशा अपने छात्रों को कौशल आधारित परिणामोन्मुखी प्रशिक्षण प्रदान करता रहा है और कौशल वृद्धि के उद्देश्य से नई तकनीकों को अपनाने के लिए हमेशा तैयार रहता है। इससे छात्रों के रोजगार के विकल्प बढ़ते हैं और कंपनियों को उनकी तकनीकी जरूरतों के अनुसार अच्छे प्रशिक्षित उम्मीदवार मिलने से भी फायदा होता है। यूईएम जयपुर ने अपने छात्रों को नौकरी, प्लेसमेंट और व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए कई प्रमुख उद्योगों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। छात्रों के अत्यधिक लाभ के लिए यूईएम जयपुर परिसर में इंटरनेट ऑफ थिंग्स, डेटा साइंस, ब्लॉकचैन आदि जैसी नवीनतम उभरती प्रौद्योगिकियों के कई सेंटर ऑफ एक्सीलेंस काम कर रहे हैं। विश्वविद्यालय की इन पहलों के कारण, इस वर्ष अधिकतम प्लेसमेंट प्रस्ताव 72 लाख प्रति वर्ष तक पहुंच गया है।

डॉ. चटर्जी ने बताया कि एंटुपल के साथ कौशल विकास केंद्र सभी छात्रों और शिक्षकों को 'ANSYS', 'कैडेंस' आदि जैसे दुनिया के अग्रणी सॉफ्टवेयर और प्रौद्योगिकियों पर व्यावहारिक अनुभव सीखने के लिए लाभान्वित करेगा। मुख्य अतिथि श्री अरूप त्यागी, अकादमिक प्रमुख, भारत , सार्क और आसियान देशों, ANSYS ने भी कौशल आधारित शिक्षा की आवश्यकता पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने बताया कि ANSYS पूरी दुनिया में इंजीनियरिंग सिमुलेशन में नंबर एक कंपनी है, जिसके 92 देशों में 2750 शैक्षणिक साझेदार हैं और दुनिया भर में 250 से अधिक समाधान भागीदार हैं। इसके बैनर तले 450 से अधिक पेटेंट भी हैं। यूईएम जयपुर के छात्र और शिक्षक निश्चित रूप से अपने शोध और प्रशिक्षण गतिविधियों में 'ANSYS' सॉफ्टवेयर का उपयोग करके सबसे आगे रहेंगे। एंटुपल टेक्नोलॉजीज, बैंगलोर के निदेशक श्री एस डी मेहता इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि थे। श्री दामोदर एम एस, व्यवसाय प्रबंधक और श्री एस के अग्रवाल, उत्पाद प्रबंधक भी उपस्थित थे। उन्होंने 'ENTUPLE' प्रौद्योगिकियों की विभिन्न सेवाओं, सुविधाओं और उत्पाद श्रृंखला के बारे में भी जानकारी दी।

प्रो. (डॉ.) प्रदीप शर्मा, रजिस्ट्रार, यूईएम जयपुर ने बताया कि यूईएम जयपुर के छात्र हमेशा नए सॉफ्टवेयर और तकनीकों को सीखने के लिए उत्सुक रहते हैं और वे यूईएम जयपुर की इनोवेशन लैब में अपने उत्पाद भी बनाते हैं। कई उद्योग वित्त पोषित परियोजनाएं छात्रों द्वारा पूरी की गई हैं और कई प्रगति पर हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि कुशल विकास केंद्र राजस्थान भर से इंजीनियरिंग करने वाले और उत्तीर्ण छात्रों को नवीनतम के लिए कुशल बनाने में उपयोगी होगा।

प्रो. (डॉ.) अनिरुद्ध मुखर्जी, डीन, यूईएम जयपुर ने भी यूईएम जयपुर में कौशल विकास केंद्र शुरू करने के लिए एंटुपल टेक्नोलॉजीज की पूरी टीम को बधाई दी। उन्होंने छात्रों की अनुसंधान और विकास गतिविधियों में अनुकरण की आवश्यकता पर बल दिया।यूईएम जयपुर और एंटुपल टेक्नोलॉजीज, बैंगलोर के बीच एमओयू के ऑनलाइन उद्घाटन समारोह में सभी विभागाध्यक्षों, शिक्षकों और 300 से अधिक छात्रों ने भाग लिया। प्रो (डॉ.) प्रशांत रंजन, एसोसिएट प्रोफेसर, इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग विभाग, यूईएम जयपुर ने पूरे सत्र का संचालन किया। उन्होंने सभी प्रतिभागियों को सत्र में भाग लेने के लिए धन्यवाद दिया।

Popular posts
वस्‍त्र निर्यात की छूट योजना में असंतुलन से परिधान और वस्‍त्र उद्योग की प्रतिस्‍पर्धा हो रही प्रभावित
चित्र
‘आयुर्वेद जिज्ञासा’ साप्ताहिक बेबीनार आयोजित
चित्र
केडीके सॉफ्टवेयर के तत्वाधान में ड्राइव बिजनेस थ्रू टेक्नोलॉजी सेमिनार का आयोजन
चित्र
ज़िन्दगी इसी का नाम है' जवाहर कला केंद्र में पिपलांत्री पर आधारित डाक्यूमेंट्री का प्रदर्शन
चित्र
लेनदेन क्लब ने पेश किया राजस्थान का पहला फिक्स्ड मैच्योरिटी Peer-to-Peer प्लान (FMPP)
चित्र