इंटरनेशनल प्रेस इंस्टीट्यूट (आईपीआई) ने की 'इंडिया अवॉर्ड' की घोषणा

रिपोर्ट : आशा पटेल


बैस्ट रिपोर्टर न्यूज,जयपुर । साल 2020 व 2021 में पत्रकारिता में उत्कृष्ट योगदान के लिए इंटरनेशनल प्रेस इंस्टीट्यूट (आईपीआई) ने अपने इंडिया अवॉर्ड की घोषणा कर दी है।  बता दें कि इंडिया अवॉर्ड-2021 संयुक्त रूप से ‘एनडीटीवी’ के श्रीनिवासन जैन व मरियम अल्वी और ‘द वीक’ की लक्ष्मी सुब्रमण्यम व भानु प्रकाश चंद्र को दिया गया है।

आईपीआई के मुताबिक, जैन और अल्वी को ‘उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के नाम पर हिंदू महिलाओं से शादी करने वाले मुस्लिम समुदाय के युवाओं के खिलाफ दर्ज जबरन धर्मांतरण के मामलों की पड़ताल’ संबंधी उनकी रिपोर्ट के लिए पुरस्कार दिया गया।

‘द वीक’ के पत्रकार सुब्रमण्यम और प्रकाश चंद्र को यह पुरस्कार संयुक्त रूप से दिया गया, जिन्होंने युद्धग्रस्त देश सीरिया और इराक में शरणार्थी शिविरों में फंसे भारतीयों, खासतौर से महिलाओं का पता लगाने पर रिपोर्ट की थी।

वहीं, साल 2020 का पुरस्कार ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की रितिका चोपड़ा को अति विशिष्ट लोगों के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतों से निपटने के मामले में भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) में मतभेद पर उनकी खास खबरों के लिए दिया गया है।

इस पुरस्कार के तहत प्रत्येक टीम को एक लाख रुपए नकद, एक ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश मदन बी. लोकुर की अध्यक्षता में संपादकों के चयन मंडल ने पुरस्कार के लिए नामों का चयन किया।

साल 2020 व 2021 के लिए यह पुरस्कार 5 मार्च को नई दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब के स्पीकर हॉल में शाम 5 आयोजित एक समारोह में दिए जाएंगे।

बता दें कि यह पुरस्कार अब तक प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में 16 मीडिया संगठनों और पत्रकारों को दिया जा चुका है।

न्यूयॉर्क में 15 देशों के संपादकों के एक समूह द्वारा 71 साल पहले स्थापित आईपीआई, प्रेस की स्वतंत्रता को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध वैश्विक संगठन है।


Popular posts
राज्य स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में खिलाड़ियों ने ताइक्वांडो मे राज्य स्तर पर जीते 16 पदक
चित्र
कोटा सेंट्रल जेल में जरूरतमंद बंदियों को बांटे गर्म कपड़े
चित्र
समग्र सेवा संघ की गोष्ठी में जे.पी. व लोहिया को दी शब्दांजलि, समाजवाद व लोकतंत्र की प्रासंगिकता पर हुआ मंथन
चित्र
महामारी का आना , हकीकत है या फसाना ? वैश्विक षड़यंत्र के विचारणीय संकेत
चित्र
पत्रकार दम्पति के साथ टोलकर्मियों द्वारा मारपीट मामले में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान, पुलिस करेगी चालान पेश
चित्र