प्रेस क्लब में पत्रकारों से मिले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत


बैस्ट रिपोर्टर न्यूज,जयपुर। नारायणसिंह सर्किल स्थित पिंकसिटी प्रेस क्लब में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 'प्रेस से मिलिए' कार्यक्रम में अंतर्गत पत्रकारों से मुलाकात की। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री गहलोत बेहद प्रसन्न एवं गपशप के मूड में नजर आए। उन्होने जहां एक ओर अपनी सरकार की तीन साल की उपलब्ध्यिों का जिक्र किया वहीं दूसरी ओर पत्रकारों के संघर्ष को सलाम करते हुए कहा कि वे पत्रकारों को उनकी अपेक्षा से अधिक देना चाहते हैं। पत्रकारों को अपेक्षा थी कि मुख्यमंत्री पत्रकारों की लम्बित व बहुप्रतीक्षित 'पत्रकार आवास योजना' के संदर्भ में कोई घोषणा करेंगें परन्तु मुख्यमंत्री ने मामले को पत्रकारों की नवगठित समितियों के पाले में डालते हुए पत्रकार समितियों के परामर्श के अनुसार सकारात्मक कार्यवाही करने का आश्वासन मात्र दिया। पत्रकारों को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से आशा है परन्तु उनकी आशा धरातल पर कब तक साकार हो पाएगी, होगी भी या नहीं ये भविष्य के गर्भ में छुपा है। 


प्रेस क्लब अध्यक्ष ने पत्रकारों की विभिन्न मांगों को मुख्यमंत्री के सामने बेबाकी से रखा। मुकेश मीणा ने नायला पत्रकार आवास योजना में 572 भूखंड़ों की लाटरी का जिक्र करते हुए कहा कि पत्रकार साथियों ने अपने आवास का नक्शा तक बनवा रखा है परन्तु आज तक उनके आवास का सपना,सपना ही बना हुआ है। एक्स ग्रेसिया के तहत कोविड के दौरान मृत्यु का शिकार हुए पत्रकारों को 50 लाख रूपये की सहायता के प्रावधान के लिए मुख्यमंत्री का आभार प्रकट करते हुए मुकेश मीणा ने मुख्यमंत्री से इस योजना के तहत आ रही विभिन्न परेशानियों को दूर करने का आग्रह किया। वरिष्ठ पत्रकार आशा पटेल ने 'सतपक्ष पत्रकार मंच' की ओर से दिए गए ज्ञापन पर मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट करते हुए बताया कि 2013 के बाद से आज दिनांक तक राज्य सरकार की ओर से समाचार पत्रों की विज्ञापन दरों में कोई परिवर्तन नहीं आया है जबकि महंगाई में कई गुना वृद्धि हो चुकी है,अत: विज्ञापन दरों को डीएवीपी के समतुल्य रखा जाए । 

Popular posts
राज्य स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में खिलाड़ियों ने ताइक्वांडो मे राज्य स्तर पर जीते 16 पदक
चित्र
कोटा सेंट्रल जेल में जरूरतमंद बंदियों को बांटे गर्म कपड़े
चित्र
समग्र सेवा संघ की गोष्ठी में जे.पी. व लोहिया को दी शब्दांजलि, समाजवाद व लोकतंत्र की प्रासंगिकता पर हुआ मंथन
चित्र
महामारी का आना , हकीकत है या फसाना ? वैश्विक षड़यंत्र के विचारणीय संकेत
चित्र
पत्रकार दम्पति के साथ टोलकर्मियों द्वारा मारपीट मामले में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान, पुलिस करेगी चालान पेश
चित्र