'इट्स टाइम टू स्पार्कल' थीम के साथ 17वां जेजेएस 24 दिसंबर से 27 दिसंबर तक जेइसीसी में

 


जयपुर, 17 दिसंबर।   देश का नंबर वन बी2बी एवं बी2सी शो - ‘जयपुर ज्वलैरी शो’ का आयोजन 'इट्स टाइम टू स्पार्कल' थीम के साथ जयपुर के सीतापुरा स्थित जयपुर एग्जीबिशन एंड कन्वेंशन सेंटर (जेईसीसी) में 24 से 27 दिसंबर 2021 को होने जा रहा है। जेजेएस दिसंबर शो के रूप में दुनिया भर में अपनी खास पहचान बना चुका है, जिसमें शीर्ष जवाहरात कारोबारी अपनी नयी डिजायन और बेहतरीन कारीगरी को प्रदर्शित करते हैं और देश-विदेश के सालाना कलैण्डर में जेजेएस को स्थान दिया जाता है। 

जेजेएस चेयरमैन विमल चंद सुराणा ने कहा कि पिछले वर्ष कोविड महामारी के कारण देश विदेश में रंगीन रत्न व आभूषण शो का आयोजन नहीं हो पाया था। इस वर्ष माहौल सामान्य होता जा रहा है इस कारण जेजेएस अपनी पूरी भव्यता के साथ  आयोजित किया जा रहा है। शो को सफल बनाने के लिए जेजेएस टीम पूरे जोश और मेहनत के साथ कार्य में जुटी हुई है। 'द दिसंबर शो' के लिए इस वर्ष एग्जीबिटर्स में उत्सुकता देखने को मिल रही है। 

जेजेएस वाईस चेयरमैन दिनेश खटोरिया ने कहा कि 2003 में एंटरटेनमेंट पैराडाइज (ईपी) में 67 स्टालों के साथ हुई शुरूआत में काफी उत्साहजनक प्रतिक्रिया, संवाद और उत्सुकता देखने को मिली थी। वहीं 2004 में लंबी छलांग देखेने को मिली जहां जेजेएस में 189 बूथ लगाए गए। उसके बाद से कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। 2005 में, वेन्यू को राजमहल पैलेस में स्थानांतरित कर दिया गया था, जिसमें 276 स्टॉल थे। इस जगह ने प्रदर्शकों, अन्य प्रतिभागियों और आगंतुकों को अधिक स्पेस और सुविधाएं प्रदान की। 2006 में, बूथों में 308 की वृद्धि देखी गई; 2007 में 354; 2008 में 357, 2009 में 372 बूथ; 2010 में 413 बूथ; 2011 में 451; 2012 में 464; 2013 में 456; 2014 में 552 बूथ; 2015 में 730 बूथ, 2017 में 800 से अधिक बूथ और 2018 और 2019 में 810 बूथ्स थे। विक्रेताओं और खरीदारों के लिए उत्तम अनुभव बनाने के लिए, जेजेएस का 17 वां संस्करण दिसंबर 2021 में लगभग 800 बूथ्स की मेजबानी करेगा। यह ब्रांड जेजेएस और पांच साल पहले वेन्यू परिवर्तित करके जेईसीसी में आयोजन करने के कारण यह संभव हो पाया है। इसके कारण से बूथों की संख्या में महत्वपूर्ण वृद्धि देखी गई है।

जेजेएस चैयरमेन श्री विमल चंद सुराणा के अनुसार गत 15 वर्षो से जेजेएस के मुख्य अतिथि रत्न एवं आभूषण क्षेत्र के विशिष्ठ शख्सियत होते हैं। इस वर्ष  24 दिसम्बर को प्रातः 10.30 बजे जेईसीसी पर ‘जेजेएस‘ के चीफ गेस्ट, महानिदेशक, विदेश व्यापार महानिदेशालय, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय और अतिरिक्त सचिव, वाणिज्य विभाग, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, आईएएस, श्री अमित यादव, होंगे। वहीं जीजेसी के चेयरमैन श्री आशीष पेठे और राजस्थान क्षेत्र के जीजेईपीसी के क्षेत्रीय निदेशक श्री निर्मल बरड़िया विशिष्ट अतिथि होंगे।

जेजेएस सचिव राजीव जैन ने बताया कि वर्ष 2003 में रश्मिकांत दुर्लभजी द्वारा शहर के एंटरटेनमेंट पैराडाइज में मात्र 67 स्टॉल्स के साथ जेजेएस की शुरूआत की गई थी। जेजेएस वर्ष 2021 में जेईसीसी में लगभग 800 बूथ होंगे। इनमें से 200 बूथ्स जेमस्टोन्स की होंगी जबकि 500 बूथ्स पर ज्वैलरी प्रदर्शित की जायेंगी। इसी प्रकार अलाईड मशीनरी, कास्ट्यूम ज्वैलरी एवं आर्टिफैक्टस की लगभग 100 बूथ्स होंगी।
राजीव जैन ने कहा कि जेजेएस में इस वर्ष भी ज्वैलरी सैक्शन में लगभग 68 प्रतिशत डिजाइनर बूथ्स हैं, जो जेजेएस का न केवल खूबसूरत बनाएंगे...बल्कि विजिटर्स को नयेपन का एहसास होगा।
राजीव जैन ने आगे बताया कि इस वर्ष जेजेएस 15-20 जेजेडीएफ के नए डिजाइनर्स को नि:शुल्क प्रदान करेगा। इसके अलावा, जयपुर के 'म्यूजियम ऑफ जेम एंड ज्वैलरी फेडरेशन' का स्टॉल भी लगेगा। इस बार जेजेएस में 80 नए प्रतिभागी और कई राष्ट्रीय ब्रांड भी हिस्सा लेंगे। जैन ने बताया कि जेजेएस को एमएसएमई द्वारा भी अनुमोदित किया गया है। एमएसएमई द्वारा रजिस्टर्ड एग्जीबिटर्स एमएसएमई के लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

राजीव जैन ने बताया कि जेजेएस के गत संस्करण की भांति एरिया में समानता होगी। जेजेएस में ना केवल पुराने एग्जीबिटर्स लगातार जुड़े हुए हैं, बल्कि नए एग्जीबिटर्स भी जयपुर के इस ब्रान्ड में भाग लेने में गहरी रुचि दिखा रहे हैं। जेजेएस-2021 में लगभग 80 नए एक्जीबीटर्स के साथ- साथ ही कई राष्ट्रीय ब्रांड भी हिस्सा लेंगे।

अजय काला ने बताया कि  ‘दिसम्बर शो‘ के रूप में लोकप्रिय जेजेएस में लगभग 40,000 देशी एवं विदेशी विजिटर्स के साथ यह देश का एक महत्वपूर्ण आयोजन बन चुका है। इस शो की खासियत व्यापारी व ग्राहक को एक साथ जयपुर की दक्षता व हुनर का प्रदर्शन है। देश में किसी ज्वैलरी शो में आम ग्राहक को इस भव्यता व व्यवस्थित ढंग से माल देखने को नहीं मिलता। इस दौरान आगंतुकों को रत्न और आभूषण उद्योग द्वारा पेश की गई नवीनतम और बेहतरीन ज्वैलरी और जेम्स को देखने का अवसर मिलता है। राजस्थान सरकार के पर्यटन विभाग द्वारा पर्यटकों और आगंतुकों के वार्षिक कैलेंडर में इस शो को शामिल किया गया है। अनेक टूर ऑपरेटरर्स ने इस प्रतिष्ठित शो को अपने यात्रा कार्यक्रम में शामिल किया है, जिससे विदेशी और भारतीय पर्यटकों को जेजेएस में विजिट करने के विशेष प्लान को सरल बनाते हैं।

जेजेएस के वाईस चेयरमैन ने कहा कि इस वर्ष भारत के 400 से अधिक टॉप ज्वैलरी रिटेलर्स ने जेजेएस में अपनी भागीदारी की पुष्टि की है। जेजेएस के निमंत्रण पर ये रिटेलर्स प्रत्येक वर्ष शो विजिट करते हैं और शो के दौरान बी2बी बायर्स के रूप में अपने प्रोडक्टस् की नियमित आपूर्ति के लिये सम्पर्क बनाते हैं। ताकि बायर्स का भी निरन्तर रूप से ज्वेलरी मैन्यूफैक्चरर्स से सम्पर्क हो सके। यह अनूठी विशेषता जेजेएस को बी2बी एवं बी2सी श्रेणी में अन्य ज्वैलरी शो से भिन्न करती है।
श्री विजय चौरड़िया ने कहा कि ऑल इंडिया जेम्स एंड ज्वैलरी ट्रेड काउंसिल (जीजेसी) के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को शो के लिए जेजेएस द्वारा आमंत्रित किया गया। जीजेएफ पूरे भारत में रत्न और आभूषण के व्यापार का विकास और प्रचार के लिए नेशनल ट्रेड फेडरेशन है। देश के 50 से अधिक शीर्ष ज्वैलरी रीटेलर्स इस शानदार कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। उन्हें शो में बड़ी संख्या में बूथों से आइटम्स चुनने का अवसर भी मिलेगा। उनकी उपस्थिति प्रदर्शकों को जी एंड जे क्षेत्र से संबंधित मुद्दों पर विशेषज्ञों से चर्चा करने का अवसर भी प्रदान करेगी।

24 दिसंबर को जनरल बॉडी की बैठक में 50 से अधिक जीजेसी- ऑल इंडिया जेम्स एंड ज्वैलरी डोमेस्टिक काउंसिल मेम्बर्स के सदस्य भाग लेंगे।

डॉ. नवल अग्रवाल, डायरेक्टर ने बताया कि डिजाइनरों को प्रोत्साहित करने और बढ़ावा देने के लिए, जयपुर ज्वैलरी शो इस साल फिर से तीसरी बार जयपुर ज्वैलरी डिजाइन फेस्टिवल (जेजेडीएफ) का आयोजन कर रहा है।हॉल बी में लगभग 576 वर्गफीट क्षेत्र में फैले इस फेस्टिवल में प्रख्यात ज्वैलरी डिजाइनर ब्रांड्स द्वारा प्रोडक्ट प्रदर्शन, कलात्मक रूप से जेमस्टोन प्रदर्शित करने के लिए एक आर्ट गैलरी, सेमिनार, पैनल डिस्कशन, ज्वैलरी का वर्चूअल डिस्प्ले, आदि सहित अनेक प्रकार की गतिविधियाँ होंगी। फेस्टिवल का स्वरूप देने के लिए यहां लाइब्रेरी, कैफेटेरिया और लाइव म्यूजिक भी होगा। इस साल जेजेडीएफ 5 से 6 प्रमुख डिजाइनिंग संस्थान के छात्रों को मंच देगा, जहां ये नवोदित डिजाइनर अपनी रचना प्रदर्शित कर सकेंगे।

इस जेजेडीएफ 2021 में महिला केंद्रित गतिविधियां होंगी जहां चयनित महिला ज्वैलर्स और कारीगरों के आर्टवर्क को बहुत ही आकर्षक तरीके से प्रदर्शित किया जाएगा। जेजेएस की आयोजन समिति ने महिला डिजाइनरों को उनके कौशल और कार्य के माध्यम से व्यापार में उल्लेखनीय योगदान देने के लिए सम्मानित करने का फैसला किया है।
  
श्री कमल कोठारी, कोषाध्यक्ष के अनुसार जीआईए द्वारा संचालित जेजेएस-आईजे ज्वैलर्स च्वाइस डिजाइन अवार्ड्स इस साल फिर से आयोजित किए जाएंगे। इस प्रतिष्ठित आयोजन की प्रतीक्षा की जा रही है। विजेताओं का चयन 4 दिसंबर, 2021 को ग्रैंड जूरी मीट में किया गया था। इस साल जूरी पैनल में जयपुर ज्वैलरी शो के चेयरमैन विमल चंद सुराणा; लतिका खोसला, संस्थापक-निदेशक, फ्रीडम ट्री डिजाइन; शुचि पांड्या, सीईओ, पिपाबेला डॉट कॉम; निहारिका बसीन, अवार्ड विनिंग कॉस्ट्यूम डिजाइनर; अर्जुन राठी, आर्किटेक्ट एंड लाइटिंग डिजाइनर ; सहिबा मदान, फाउंडर, कलाकारी हाथ; अपूर्वा देशिंगकर, वरिष्ठ निदेशक - एज्यूकेशन एंड मार्केट डवलपमेंट; वरुण डी जानी, ज्वैलरी डिजाइनर और एडॉर्नोलॉजिस्ट।

अब अपने 11वें वर्ष में, 'जेजेएस-आईजे ज्वैलर्स' च्वाइस डिजाइन अवार्ड्स' ने भारत और दुनिया के आभूषणों के पारखी लोगों के दिलों में एक विशेष स्थान बनाया है। साल दर साल, इस पुरस्कार ने केवल डिजाइन और रचनात्मकता में देश के सर्वश्रेष्ठ को अधिक बेहतर बनाया है और सम्मानित किया है। इस साल ज्वैलरी डिजाइनिंग में कई इंटरनेशनल एलिमेंट्स का इस्तेमाल किया गया है। इस देश में डिजाइन प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है, लेकिन यह देखना हमेशा दिलचस्प होता है कि विशाल मात्रा में कैसे प्रतिभाएं पहनने योग्य, सुंदर पीस का निर्माण करती हैं।
इस साल आईजे अवॉर्ड्स में 600 से ज्यादा डिजाइने शामिल हैं। इनमें से, 100 से अधिक डिजाइनों का मूल्यांकन प्रख्यात जूरी द्वारा किया गया। 24 दिसंबर की शाम एक भव्य समारोह में यह पुरस्कार बॉलीवुड फिल्म स्टार द्वारा प्रदान किए जाएंगे।

महावीर पी शर्मा ने बताया कि इस वर्ष भी जयपुर ज्वैलरी शो की एक समर्पित सोशल मीडिया टीम कार्यरत है। इस टीम द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से संभावित कंज्यूमर्स तक कम लागत में विस्तृत जानकारी उपलब्ध करवायेंगी।

जीआईए, डीटीसी, जीजेईपीसी, डब्लूएफडीबी, सीआईबीजेओ, जीजेएफ, आईसीए, रियो-टिंटो, जेम्सफील्ड, आईजीआई और एसजीएल सभी जेजेएस के प्रतिष्ठित पार्टनर्स रहे हैं। उनके कौशल और पेशेवर कामकाज ने इस मेगा इवेंट में मूल्यवर्धन किया है।
श्री अशोक सिंघी ने बताया कि यह शो सभी 4 दिनों में सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक केवल व्यावसायिक आगंतुकों के लिए खुलेगा। शेष दिन के दौरान आगंतुक (शाम 7 बजे तक) जेजेएस में आ सकेंगे।

श्री अशोक सिंघी के अनुसार पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी आयोजकों ने सुरक्षा के लिए व्यक्तिगत कैमरों के साथ-साथ जेजेएस के स्तर पर भी व्यवस्था की है। श्री उमेश डंगायच ने बताया कि जेजेएस का लंच अत्यन्त लोकप्रिय होता  है,देशभर के  विजिटर्स यहां के  लंच की तारीफ करते  हैं। 
श्री जगदीश ताम्बी ने कहा कि जयपुर को जेम एंड ज्वैलरी में एक ब्रांड बनाने के लिए - पिछले वर्षों की तरह, जेजेएस 2021 कुछ संगठित और सुनियोजित प्रचार-प्रसार करेगा। 

मेहुल दुर्लभजी ने बताया कि जयपुर ज्वैलरी शो की एक विशेष खासियत नवीनतम डिजाइनों, ज्वैलरी की नई सेटिंग्स पर ध्यान केंद्रित करना है। लोगों को पारंपरिक भारी सोने के गहनों से लेकर हल्के वजन के आभूषणों के नये फैशन देखने को मिलते हैं। जो लोग फैशन एक्सेसरीज और स्टोन जड़ित ज्वैलरी की तलाश में हैं, वे निराश नहीं होंगे।  

श्री नवरत्न कोठारी के अनुसार इस वर्ष भी, जेजेएस हीरे, रंगीन स्टोन्स, कीमती धातुएं - चांदी, सोना, बेस-मेटर कार्विंग और बीड्स के साथ एक सम्पूर्ण शो होगा। इसके अवाला, शो में  ज्वैलर्स और जेमस्टोन्स डीलरों, ज्वैलरी संस्थानों, प्रकाशनों को भी अवसर मिलेगा। 




Popular posts
राज्य स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में खिलाड़ियों ने ताइक्वांडो मे राज्य स्तर पर जीते 16 पदक
चित्र
समग्र सेवा संघ की गोष्ठी में जे.पी. व लोहिया को दी शब्दांजलि, समाजवाद व लोकतंत्र की प्रासंगिकता पर हुआ मंथन
चित्र
महामारी का आना , हकीकत है या फसाना ? वैश्विक षड़यंत्र के विचारणीय संकेत
चित्र
कोटा सेंट्रल जेल में जरूरतमंद बंदियों को बांटे गर्म कपड़े
चित्र
पत्रकार दम्पति के साथ टोलकर्मियों द्वारा मारपीट मामले में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान, पुलिस करेगी चालान पेश
चित्र