विभाग की उदासीनता का लाभ उठा रहे हैं मिलावटखोर

राजधानी जयपुर में मिलावट करके आमजन के स्वास्थ्य और जान के साथ खिलवाड़ करने वाले लोग नंगा नाच रहे हैं और जिम्मेदार विभाग चुप्पी साधे देख रहे हैं। दिखावे के लिए फौरी तौर पर कार्रवाई कर ली जाती है। राजधानी जयपुर में गुरुवार को दो बड़े गैंग मिलावटियों के पकड़े गए हैं। विभाग ने कार्रवाई की अच्छी बात है। एप्रीशियेट करना चाहिए लेकिन विभाग ने यह नहीं बताया कि ये लोग कब से इस गंदे धंधे में लिप्त हैं और अब तक विभाग सो क्यों रहा था? कहने को तो शहर में मिलावटी खाद्य पदार्थों तैयार कर आमजन के जीवन से खिलवाड़ करने वाले मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान जारी है लेकिन ये साफ है कि बड़े मगरमच्छों पर अब भी विभाग हाथ डालने में नाकामयाब रहा है। गुरुवार को शहर में करीब 3000 हजार किलो सिंथेटिक पनीर व नकली मिलावटी क्रीम बरामद कर ली। इसके अलावा मिलावटखोरों की पिकअप व कार भी जब्त की गई। मानसरोवर, बस्सी, जवाहर सर्किल, खोहनागोरियान व रामगंज इलाके में एक साथ बीती रात की गई इस कार्रवाई में पता चला है कि यह नकली खाद्य सामग्री को शहर के विभिन्न नामी होटल्स, रेस्त्रां व डेयरियों में सप्लाई की जाती है। अब कोई यह बताए कि ये कितने दिनों से सप्लाई किया जा रहा था और नामी होटल्स इस मिलावटी सामान के ग्राहकों से कितने गुना पैसे वसूल रहे थे। क्या ऐसे मामलों में होटल्स प्रबंधन की जांच भी नहीं होनी चाहिए। एक कार की तलाशी में करीब 600 किलो सिंथेटिक पनीर व क्रीम बरामद किया। मामले में कार चालक समीर मेव निवासी राकड़ी सोढाला को गिरफ्तार कर लिया। जयपुर आगरा हाइवे पर एक पिकअप जब्त की जिसमें करीब 1800 किलो सिंथेटिक पनीर व 40 किलो घी बरामद हुआ। मामले में पिकअप चालक परसराम निवासी कामां, भरतपुर को गिरफ्तार कर लिया। इनकी सूचना खाद्य व स्वास्थ्य विभाग की टीम को दी गई। रामगंज इलाके में प्रताप नगर, जामडोली निवासी राकेश बृजवासी को गिरफ्तार कर उसकी नवाब का चौराहा, घाटगेट बाजार स्थित फैक्ट्री पर छापा मारा। जहां से पुलिस टीम ने करीब 170 किलो मिलावटी मावा व 300 किलो सिंथेटिक पनीर बरामद किया गया। मानसरोवर थाना इलाके में पुलिस ने इंजीनियर्स कॉलोनी, मांग्यावास स्थित अमन डेयरी के संचालक वसीम अकरम को पकड़ा। वह कैथवाड़ा, भरतपुर का रहने वाला है। यहां अजमेर रोड पर धाबास रोड पर विराट नगर में रहता है। उसकी डेयरी से करीब 350 किलो सिंथेटिक पनीर बरामद किया। इसी प्रकार ग्रामीण जिले की पुलिस ने गुरुवार अलसुबह एक और कार्रवाई करते हुए केमिकल्स और सोयाबीन तेल से नकली दूध बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश किया। यह फैक्ट्री एक मकान में पिछले लंबे अरसे से चल रही थी। जहां से पुलिस ने करीब 500 लीटर तैयार नकली दूध के अलावा केमिकल की बोतल, सोयाबीन तेल, दूध बनाने के लिए पाउडर के कट्टे और नकली दूध तैयार करने की मशीन बरामद की। मामले में पुलिस ने अशोक डागर नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया।


Popular posts
राज्य स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में खिलाड़ियों ने ताइक्वांडो मे राज्य स्तर पर जीते 16 पदक
चित्र
समग्र सेवा संघ की गोष्ठी में जे.पी. व लोहिया को दी शब्दांजलि, समाजवाद व लोकतंत्र की प्रासंगिकता पर हुआ मंथन
चित्र
महामारी का आना , हकीकत है या फसाना ? वैश्विक षड़यंत्र के विचारणीय संकेत
चित्र
कोटा सेंट्रल जेल में जरूरतमंद बंदियों को बांटे गर्म कपड़े
चित्र
पत्रकार दम्पति के साथ टोलकर्मियों द्वारा मारपीट मामले में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान, पुलिस करेगी चालान पेश
चित्र